दर्द से चीखती-चिल्लाती रही 9 साल की बहन, भाई ने समझा गेम खेल रही है लेकिन वो तो….

इंदौर – मध्य प्रदेश के इंदौर से एक बेहद सनसनीखेज मामला सामने आया है. रिपोर्ट के मुताबिक, यहां के एक मॉल टीआई (ट्रेजर आईलैंड) में कुछ बच्चे वर्चुअल गेम जोन में भारी शोर शराबे के बीच गेम खेल रहे थे. शोर इतना अधिक था कि परिवारवालों को अंदर क्या हो रहा है इसका आभास भी नहीं हुआ. अंधेरे कमरे और शोऱ-शराबे के बीच एक 9 साल की बच्ची अचानक बहुत तेज़ तेज़ चीखने लगी. अपनी 9 साल की बहन को इस तरह से चीखता-चिल्लाता देख वहां उसके साथ मौजूद उसके 12 वर्षीय भाई और अन्य बच्चों को लगा कि बच्ची गेम से डर के चिल्ला रही है. लेकिन, सच इतना खैफनाक था कि कोई सोच भी नहीं सकता. मॉल में 9 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी का ये मामला इन दिनों सुर्खियों में है.

मॉल में 9 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी

somthing happening in the gaming zone parents wan not know

दरअसल, इस 9 साल की बच्ची गेम की वजह से नहीं बल्कि किसी और वजह से चिल्ला रही थी. रिपोर्ट के मुताबिक, इस बच्ची को मॉल में काम करने वाला एक कर्मचारी जबरदस्ती अपने साथ कोने में ले गया और गलत हरकते करने लगा. इस कर्मचारी ने वैहशीपने की सारी हदे पार कर दी और कुछ ही देऱ में पूरे फर्श पर खून फैल गया.थोड़ी देर में बच्ची रोते हुए अपनी मां के पास पहुंची और उसने दर्द में झटपटाते हुए मॉल में काम करने वाले कर्मचारी अर्जुन की तरफ इशारा किया. इसके बाद पूरा मामला पकड़ में आ गया। मां का गुस्सा सातवें आसमान पर था उसने अर्जुन को पकड़ लिया और जमकर धुनाई कर दी. इसके बाद अन्य लोग भी वहां पहुंच गए और उसे पीटने लगे.

इसके बाद पीड़ित परिवार ने पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज कराई. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया और बच्ची का मेडिकल टेस्ट कराया गया है. लेकिन इस मामले के सामने आने के बाद शहर के सभी लोग डर गए हैं. इस हादसे का बच्ची पर इतना बुरा असर हुआ है कि वह सदमे में है. यहां तक की वो मॉल के बाउंसर को देखकर भी डर रही थी. आपको बता दें कि इंदौर के जूनी इलाके में रहने वाले एक कारोबारी की पत्नी अपनी 9 साल की बेटी और 12 के बेटे को गुरुवार शाम वहां स्थित ट्रेजर आईलैंड में घूमने गई थी. इस मॉल की पांचवीं मंजिल पर बच्चों के लिए प्ले जोन बना हुआ है.

बहन को चीखता देख भाई को लगा गेम खेल रही है

somthing happening in the gaming zone parents wan not know

बच्चों के कहने पर मां उन्हें वर्चुअल गेम जोन में लेकर गई. जहां दोनों बच्चे चश्मा और मास्क लगाकर गेम खेलने लगे. क्योंकि, दोनो भाई-बहन को अलग अलग गेम खेलना था इसलिए वो अलग अलग बैठ गए. कमरे में पूरा अंधेरा था और म्यूजिक का शोर काफी अधिक था. थोड़ी देर में ही बच्ची की जोर जोर से चिल्लाने की आवाज आने लगी. लेकिन, अपनी बहन को चील्लाता सुन भाई को लगा कि वो गेम से डर रही है. लेकिन, हकीकत इतनी खौफनाक होगी किसी को इस बात का अंदाजा भी नहीं था. दरअसल, वहां मौजूद मॉल के एक कर्मचारी अर्जुन ने बच्ची को कोने में ले जाकर उसके साथ गलत हरकत की.

मॉल में 9 साल की बच्ची के साथ दरिंदगी की खबर से पूरा शहर सदमे में है. ताज्जुब की बात तो ये है कि गेमिंग जोन में काम करने वाले किसी भी कर्मचारी का पुलिस वेरिफिकेशन नहीं किया गया था. इस घटना पर मॉल के मालिक पिंटू छाबड़ा का कहना है कि वो भी इस हादसे से सहम गए हैं. गौरतलह है कि कुछ सालों पहले इसी मॉल में 11 वीं क्लास की एक छात्रा के साथ भी ऐसी ही एक घटना हो चुकी है. उस दौरान छात्रा जब चेजिंग रूम में कपड़े बदल रही थी. तो वहां के कर्मचारी चेंजिंग रूम में मोबाइल फोन रखकर उसका वीडियो बनाते हुए पकड़े गए थे.

loading...